समानार्थी शब्द किसे कहते हैं पूरी जानकारी

समानार्थी शब्द – हेलो दोस्तों हिंदी में ज्ञान पर आपका स्वागत है आजके इस पोस्ट में हम हिंदी व्याकरण के सबसे महत्वपूर्ण खंड यानी समानार्थी शब्द के बारे में बताएँगे अगर आप इस बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हो तोह एक दम सही पेज पर हो यहाँ आपको समस्त जानकारी विस्तारपूर्वक बताई जायेगी।

समानार्थी शब्द

अगर आप समानार्थी शब्द के बारे में पूर्ण ज्ञान लेना चाहते हो तोह इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें और ध्यानपूर्वक पढ़ें। चलिए अब जानते हैं की समानार्थी शब्द क्या होता है?

समानार्थी शब्द किसे कहते हैं पूर्ण ज्ञान

जिस शब्दों का अर्थ एक सामान होता है उनको हम समानार्थी शब्द कहते हैं ऊँचा, उच्च, बुलंद, तुंग आदि।

अगर में आपसे पूछूं की समानार्थी शब्द क्या है तोह आपका जवाब पता नहीं होगा लेकिन अगर में आपसे पूछूं की पर्यायवाची किसे कहते हैं तोह ज्यादातर लोग फटाफट जवाब देंगे लेकिन क्या आपको पता है की समानार्थी शब्द को ही हम पर्यायवाची शब्द भी कहते हैं जी हाँ दोस्तों ये सच है।

चलिए आपको विस्तारपूर्वक समझाते हैं >

पर्याय का अर्थ ‘समान, एक जैसा‘ होता है एवं वाची का अर्थ ‘बोले जाने वाले‘ होता है इसका मतलब ये है की जितने भी सामान बोले जाने वाले शब्द होते हैं उन्हें पर्यायवाची शब्द यानी समानार्थी शब्द कहते हैं।

समानार्थी शब्दों या पर्यायवाची शब्दों को हम प्रतिशब्द या समानार्थक शब्द भी बोल सकते हैं।

अंग्रेजी में हम समानार्थी शब्दों को Synonyms कहते हैं।

नीचे हमने विद्यार्थियों के अध्ययन हेतु पर्यायवाची शब्दों की सूची प्रस्तुत की है

कुछ महत्वपूर्ण समानार्थी शब्द और उनके अर्थ

शब्द पर्यायवाची शब्द / समानार्थी शब्द
अग्निआग, पावक, अनल, ज्वाला, हुताशन, वैश्वानर, धूम्रकेतु, रोहिताश्व, कृषानु, दहन
अंधकारतम, तिमिर, अंधेरा, तमस, अंधियारा
अंगतन, शरीर, काया, देह
अंकुरकलिका, कोंपल, कल्ला, अँखुआ
अरण्यजंगल, कानन, वन, विपिन, अटवी
असुरदानव, राक्षस, निशाचर , यातुधान, सुरारि, दैत्य, तमीचर
अदृश्यगायब, ओझल, लुप्त, अंतर्धान, तिरोहित
अनुपमअनोखा , अपूर्व , अद्भुत , अनूठा , बेमिसाल , निराला , विलक्षण
अंधानेत्रहीन , दृष्टिहीन , चक्षुहीन , सूरदास
अहंकारगर्व , मद , घमण्ड , दम्भ , दर्प, अकड़ , शेखी
अतिथिमेहमान , अभ्यागत , पाहुना
अकालभुखमरी , सूखा , दुभिक्ष
अमृतपीयूष , सोम , अमी, अमिय , मधु, सुरभोग
अध्यापकआचार्य , गुरू , उपाध्याय , प्रवक्ता , शिक्षक
अपमानबेइज्जती , तिरस्कार ,निरादर , अनादर , उपेक्षा
अश्वतुरंग ,हय ,घोड़ा , घोटक , बाजि
अनारशुकप्रिय , दाड़िम , रामबीज
अजब्रह्मा , ईश्वर
अभिजातकुलीन ,श्रेष्ठ, योग्य, सम्भ्रांत
अभिप्रायअर्थ , तात्पर्य, मतलब , आशय , व्याख्या
अधरओठ, रदच्छद , ओष्ठ
अनाजशस्य , अन्न, धान्य ,खाद्यान्न , गल्ला
अनुमानकयास, अंदाज , अटकल
अन्यभिन्न, दूसरा , अलग, पृथक
अजेयअपराजित , अपराजेय , अजित
अनुचरसेवक , भृत्य , परिचारक , दास
अंवेषणशोध , अनुसंधान , जाँच , गवेषण
अप्सरादेवकन्या , देवांगना , सुरबाला , देवबाला
अधिकार`प्रभुत्व, स्वामित्व, हक , आधिपत्य
अनुमतिमंजूरी ,स्वीकृति , इजाजत , अनुज्ञा , आज्ञा
अशुद्धअपवित्र, दूषित ,गंदा , मलिन
अधीनपराधीन , पराश्रित , मातहत, निर्भर
अध्यक्षप्रधान , मुखिया , प्रमुख
अपराधजूर्म, कसूर , दोष
अर्जुनगाण्डीवधारी, धनंजय, पार्थ, सव्यसाची , द्रोणशिष्य
अवनतिउतार , गिराव, अपकर्ष , ह्रास
अच्छाबढ़ि‌या, चोखा , आला , उम्दा
अचेतचेतनाहीन , बेखबर , मूर्छित
अंतसमाप्ति, इति , आखीर
आकाशगगन , नभ, व्योम, अम्बर, शून्य , अभ्र,अनंत , अंतरिक्ष
आमरसाल , आम्र , फलश्रेष्ठ , पिकबंधु , अमृतफल
आँखनयन , नेत्र , लोचन ,विलोचन , अक्षि, दृग , चक्षु
आँसूनेत्रनीर , अश्रु , नयनजल , नेत्रवारि
आँधीप्रभंजन , झंझावत , बबंडर , तूफान
आँगनबाड़ा , प्रांगण, अंगना
आकर्षकलुभावना , मोहन , मनोहारी , दिलकश
आज्ञाइजाजत, सहमति , मंजूरी , अनुमति
आवेगत्वरा , स्फूर्ति ,तेजी , जोश
आशीर्वादआशीर्वचन ,आशीष , मंगलकामना
आदरणीयमान्यवर, पूजनीय, पूज्य, मानवीय, सम्मान्य
आकाशगंगामंदाकिनी, स्वर्गनदी, नभगंगा, सुरनदी
आदर्शप्रतिरूप, नमूना , मानक, प्रतिमान
आयुष्मानचिरंजीव , शतायु, दीर्घजीवी, चिरायु, दीर्घायु
आश्रयअवलम्ब, आधार , सहारा, प्रश्रय
आधुनिकअर्वाचीन , नव्य, वर्तमानकालीन , नूतन
आलसीठलुआ, निकम्मा, निरूद्यमी, काहिल, सुस्त
आहारखाना , भोजन, खाद्य वस्तु
आश्चर्यकुतूहल , अचरज , कौतुक , अचम्भा
आदिप्रारम्भ , प्रथम , पहला ,शुरु का ,आदिम
इंद्रशचीपति, देवराज, पुरुंदर, सुरपति, मेघपति , सुरेश , सुरेंद्र , शक्र , वज्रधर
इंद्रपुरीदेवलोक , अमरावती, सुरपुर, देवेंद्र्पुरी
इंद्राणीशची , शतावरी ,इंद्रा
इंद्रधनुषसप्तकर्ण , इंद्रधनु , सुरचाप
इच्छुकसंकेत , इशारा , इंगित
इच्छारूचि , कामना, मर्जी, चाह , वांछा
ईश्वरप्रभु, अजे , जगदीश , परमेश्वर , परमात्मा, जगन्नाथ
ईनामपुरस्कार , उपहार, पारितोषिक , बख्शीश
ईर्ष्याजलन, डाह , द्वेष , मत्सर , स्पर्धा, कुढ़न
ईखगन्ना , पेड़ी , रसद, ऊख
उत्तमश्रेष्ठ, प्रवर, अच्छा, बेहतरीन , उत्कृष्ट
उत्थानउत्कर्ष, उत्क्रमण, आरोह
उत्पत्तिउद्गम , जन्म , उद्भव, आविर्भाव
उद्धारमुक्ति, अपमोचन , मोक्षण, छुटकारा
उपासनापूजा, अर्चना, इबादत, आराधना
उल्टाप्रतिकूल , प्रतिलोम , औंधा
उपमासादृश्य, समानता, तुलना
उपकारभलाई, नेकी, कल्याण , हित
उपालंभशिकायत, उलाहना, शिकवा
उल्लूलक्ष्मीवाहन , कौशिक , उलूक
उत्कंठउत्सुकता, लालसा, आतुरता , प्रवलेच्छा
उदासीनवीतराग , विरक्त , अनासक्त , निर्लिप्त
उदरजठर , कुक्ष, पेट
ऊँटउष्ट्र , मरुयान , लम्बोष्ठ, महाग्रीव
ऊसरअनुपजाऊ, अनुर्वर, सस्यहीन
ऊष्मातपन, ताप, गर्मी, उष्णता
ऊर्जाओज , शक्ति, स्पूर्ति
ऊँचाउत्तुंग , गगनचुम्बी , लम्बा, उच्च , बुलंद
ऊँघझपकी , अलसाई, अर्धनिद्रा , तंद्रा , ऊँघाई
ऊधमहंगामा , धमाचौकड़ी , उपद्रव, हुल्लड़
ऋद्धिसम्पन्नता , वृद्धि, बढ़ोत्तरी , समृद्धि
ऋषिमहात्मा , मनीषी, साधु, मुनि, मंत्रद्रष्टा
एकान्तविजन , शून्य, निर्जन , सुनसान
एहसानअनुग्रह , आभार, कृतज्ञता
ऐश्वर्यऋद्धि , सम्पन्नता , श्री, सम्पदा
ओसहिमकण, तुहिनकण, तुषार , शबनम , हिमबिंदु
ओछाक्षुद्र, छिछोरा , कमीना, हल्का , टुच्चा
औरज्यादा , अधिक , बढ़कर
कमलराजीव, नीरज, पंकज, अरविंद, सरोज, जलज, जलजात, वारिज, शतदल , पुष्कर, कुवलय, पुण्डरीक, इंदीवर, अम्बुज, पद्म, सरोरुह, कंज, अम्भोज, उत्पल
कल्पवृक्षकल्पद्रुम , कल्पतरु, परिजात , मंदार , सुरद्रुम , सुरतरु, कल्पशाल
कपड़ापट, वसन , वस्त्र, अम्बर, परिधान , दुकूल
कबूतररक्तलोचन, हारीत, परेवा , कपोत
कर्णकौंतेय , सूर्यपुत्र , सूतपुत्र , राधेय
कर्जउधार , देनदारी , देयता , ऋण
कामदेवअनंग, मनोज , ,मन्मथ, कंदर्प , रतिपति , स्मर , कुसुमायुध , मार , मकरध्वज, मनसिज , पंचबाण , केतन , मदन , मीनकेतु, मनोज , अदेह
किरणरश्मि , अंशु, मरीचि, मयूख, ज्योति , दीप्ति, दीधिति
कांतिआभा, प्रभा, चमक, द्युति
कुबेरधनेश , धनद , किन्नरेश , धनपति , अलंकेश , धनपाल
कलीमुकुल , नवपल्लव , ताम्रपल्लव , कलिका , कोंपल, अँखुवा
कोयलपिक, बसंतदूत , मदनशलाका , कलकंठ , श्यामा , काकपाली , कोकिल , परभृत , कलापी , कलघोष
कौवाकाक , वायस , काग , करकट , पिशुन , करठ
कृष्णमुरलीधर, गिरिधर ,कन्हैया , वासुदेव, मोहन , गोपाल , नटवर , रणछोड़ , पद्मनाभ , चक्रपाणि , राधास्वामी , नंदलाल , केशव ,गोविंद, नारायण , जनार्दन , पुरुषोत्तम , अच्युत , कैटमारि, घनश्याम , ब्रजबल्लभ , दामोदर
केलाकदली , मोचा , रम्भा , गजवसा , भानुफल
कंदरागुफा, गह्वर , खोह , गुहा
कुत्ताश्वान , कुक्कुर , श्वजन , कूकर , गंडक
कस्तूरीमृगनाभि , मदलता , मृगमद
कब्जमलबंध , मलावरोध, बद्धकोष्ठ, कोष्ठबद्धता
कार्तिकेयस्कंद, षडानन,  कुमार , शरभव
केशबाल,अलक ,चिकुर, शिरोरूह
केवटमल्लाह , खेवट , धीवर, मांझी, नाविक
क्रोधगुस्सा , अमर्ष, आक्रोश , तैश , क्षोभ, कोप
खगपंक्षी , विहंग , विहग , पखेरु , चिड़िया , शकुनि , द्वित
खल दुष्ट , दुर्जन, धूर्त , शठ, पामर , अधम , नृशंस, नीच
खिड़कीगवाक्ष, झरोखा , दरीचा , वातायन , बारी
खम्भाखम्भ, स्तम्भ, यूप
खंडअंश , भाग , टुकड़ा
गंगाभागीरथी , जाह्नवी, त्रिपथगा, मंदाकिनी, अलकनंदा , देवपगा , सुरसरि , देवनदी , नदीश्वरी
गणेशगजानन, विनायक, लम्बोदर , गजबदन , गणाधि , मोदकप्रिय , मूषक-वाहन , गौरीसुत , एकदंत
गरूणवैनतेय, पक्षिराज , खगेश , हरिवाहन, पन्नगारि , नागांतक
गृहघर , निकेतन , शाला, निलय ,आगार , मंदिर,धाम , निकेत , भवन, आलय
गर्व दम्भ, दर्प, घमंड , अभिमान, अकड़
गीदड़श्रृंगाल, सियार , जम्बुक
गदहागधा, गर्दभ, खर, वैशाखनंदन , रासभ, वेशर
गायगऊ, धेनु, दोग्धी, सुरभि, पयस्विनि, गौ, भद्रा, सुरभिवच्छा
गुलाबपाटल, शतपत्र, वृत्तपुष्प, स्थलकमल
घोड़ीअश्विनी, प्रसूका , वामी , प्रसू
घीघृत , नवनीत, अमृत, हव्य
घड़ाधट, कुंभ,कलश, गगरा
चंद्रमाचाँद , इंदु, विधु, तारापति, शशि, राकेश , रजनीश, विभाकर , मयंक, तारकेश , निशाचर , सुधाकर, कलानिधि , शशांक
चाँदनीकौमुदी, चंद्रिका , ज्योत्सना, चंद्रमरीचि, तरंगिणी, चंद्रकला
चपलाबिजली, दामिनी, चंचला, विद्युत , तड़ित
चतुरचालाक , निपुण, पटु, नागर , दक्ष, प्रवीण, कुशल,
चाँदीरजत, रूपा, रूपक
चौकीदारपहरेदार ,प्रहरी, गारद
चापलूसीचाटुकारी, मिथ्या प्रसंसा , खुशामद, चमचागिरी, लल्लोचप्पों, चिरौरी
छिपकलीगोधिका, माणिक्य, विषतूलिका
छलकपट, प्रपंच, फरेब , चकमा
छुटकारामुक्ति , रिहाई, निजात
जंगलवन , अरण्य , विपिन , कानन , बीहड़ , विटप
जलसलिल , नीर , वारि, पय, पानी, अम्बु, तोय
जड़निर्जिव, अचेतन , स्थावर , प्राणरहित , अचर
जोकरहँसोड़ , मजाकिया , ठिठोलिया, मसखरा
जीभरसना , जिह्वा , रसज्ञा , रसिका
जादूमाया, इंद्रजाल, तिलस्म
जीविकाआजीविका , गुजारा , वृत्ति, रोजी
जूताउपानह, पदत्राण ,पनही , चर्मपादुका
जानकीसीता , जनकतनया , वैदेही, मैथिली , जनकसुता
जंगयुद्ध , लड़ाई , रण, समर , संग्राम
ज्वालालौ, लपट, अग्निशिखा
झंडाध्वज , निशान, पताका, केतु
झरनाप्रपात, निर्झर, स्त्रोत , उत्स
झूठअसत्य , अनृत , अतभ्य, मिथ्या, वितभ्य
झोपड़ीपर्णकुटी, कुंज, कुटिया, कुटी
टीकाभाष्य, व्याख्या, वृत्ति, भाषांतरण, विवृत्ति
टक्करधक्का , ठोकर , समाघात , भिड़ंत
ठगप्रवंचक , वंचक , जालसाज , अड़ीमार , प्रतारक
ठिठोलीमजाक , व्यंग,उपहास, व्यंग्योक्ति
डायरीदैनिकी , दैनंदिनी, रोजनामचा
डाकूदस्यु , बटमार , डकैत , लुंठक , साहसिक
ढिठाईअशिष्टता , अविनय , धृष्टता , प्रगल्भता
ढोंगीपाखण्डी , छली, कपटी ,रंगा सियार , बगला भगत
तनिकथोड़ा , किंचित, रंचमात्र , लेशमात्र
तरंगऊर्मि, लहर , वीचि , उल्लोल , हिलोर
तलवारखड्ग , शमशीर , असि, तेग
तानाशाहअधिनायक , निरंकुश शासक
तरुपादप, पेड़, विटप, द्रुम
तोताशुक, सुग्गा, दाड़िम प्रिय, रक्ततुण्ड, कीर
तालाबसरोवर, पुष्कर , पोखरा , जलवान, तड़ाग, पद्माकर, ह्द
तारानक्षत्र, उडुगण, तारक
थोथाखोखला, रिक्त, खाली , पोला
दयाअनुकम्पा, रहम, तरस, करूणा
दरिद्रनिर्धन , गरीब, कंगाल , रंक, अकिंचन, विपन्न
दाँतदंत, रदन, रद
दवादवाई, औषधि , औषध
दु:खदर्द, वेदना, यातना, शोक , कष्ट, विषाद , यंत्रणा
दलयूथ , जत्था, गिरोह, समूह, संघ
दुर्गाभवानी, चंडिका, कल्याणी, महागौरी, चामुण्डा , चण्डी, कामाक्षी, ज्वाला , शेरावाली , गौरी, काली
दाससेवक ,भृत्य, परिचायक, नौकर, चाकर, किंकर
दासीनौकरानी, अनुचरी, बाँदी, परिचायिका , किंकरी
दिनाँकतिथि, तारीख, मिति
दिव्यअलौकिक, लोकातीत, लोकोत्तर, स्वर्गिक
द्रौपदीपांचाली , कृष्णा, द्रुपदसुता , याज्ञसेनी
धनुर्धरधन्नी, तीरंदाज , निषंगी
धंधारोजगार, कामकाज , व्यापार , व्यवसाय
धनुषशरासन , कोदंड , चाप, कमान, पिनाक
धात्रीदाई, धाया, अम्मा
नंगानग्न, दिगम्बर, खुला, अनावृत्त, निर्वस्त्र
 नक्षत्रतारा, सितारा, खद्योत, उदु, ऋक्ष, तारक
नदीसरिता, तरंगिणी, अपगा, तटनी
नारीस्त्री, महिला, रमणी, वनिता , वामा, औरत , ललना
निकम्मानिखट्टू, निठल्ला, बेकार, अकर्मण्य
निमित्तलक्ष्य,प्रयोजन, हेतु, ध्येय
नमकलवण, रामरस, नोन (नून)
नित्यशाश्वत, सतत्, सर्वदा, सदैव , प्रतिदिन , रोज
निरालाअनोखा, अनूठा, अद्भुत, विलक्षण
पंडितज्ञानी, विद्वान, सुधी, कोविद, विज्ञ
पत्थरपाषाण, पाहन , प्रस्तर, अश्म
पतिस्वामी, आर्यपुत्र , भतार, वल्लभ, बालम, नाथ
पत्नीप्रिया, भार्या,कांता, अर्द्धागिनी, वामांगी, जोरू, वामा, गृहिणी, औरत
पुत्रसुत, आत्मज, तनय, लड़का , बेटा
पुत्रीसुता, आत्मजा, तनया, लड़की, बेटी, दुहिता
प्रतीपउल्टा , विपरीत , विलोम, विरूद्ध
प्रत्यक्षसम्मुख, सामने, समक्ष, साक्षात् , दृष्टिगोचर
प्रांजलनिर्मल, स्वच्छ, बेदाग , शुद्ध
पर्वतगिरि, मेरु, तुंग, अचल, पहाड़, शैल
पार्वतीउमा, गौरी, शिवा, भवानी, गिरिराज कुमारी , सती
परशुरामभृगुनंदन, परशुधर , भार्गव
पृथ्वीअवनि , भू ,घरती, धरा ,वसुधा, मेदनी, मही , क्षिति, अचला ,वसुंधरा
फूलसुमन, प्रसून , पुष्प, कुसुम
बलरामबलभद्र, बल्देव, हलधर, हलायुध, बलवीर , हली
बगीचाउद्यान , उपवन , निकुंज , कुंज, फुलवारी
बंदरकपि, शाखामृग , मर्कट , कीश, हरि , कपीश
बलात्कारशीलभंग, शीलाघात, बलात् सम्भोग , सतीत्वहरण
बादलमेघ, घन, आरिद, जलद,जलधर
ब्रह्माविधाता, विरंचि, चतुरानन, सृष्टिकर्ता , अब्जयोनि
ब्रह्माणविप्र, भूदेव, महीसुर, भूसर, द्विज
भण्डारगोदाम , आगार, मालखाना, संग्रहागार
भगिनीबहन, दीदी, सहोदरा, जीजी
भद्दाबेढब, बदशकल , कुरूप, बेडौल
भाग्यकिस्मत , नसीब, नियति, मुकद्दर, प्रारब्ध
भौंराभ्रमर, मधुकर, अलि, षट्पद , भृंग , मधुराज
भारतजम्बूद्वीप, आर्यावर्त, भरतखण्ड , हिदुस्तान
मनुष्यआदमी, मनुज , मानव, इंसान, मानुष
महादेवशिव, शंकर, चंद्रशेखर, गंगाधर, उमापति, त्रिपुरारि, शम्भू, त्रिलोचन, नीलकण्ठ , भूतनाथ
मदिरासुरा, दारू, मद्य, शराब
महलप्रासाद, राजमहल, राजभवन, राजप्रासाद
महारानीमहिषी, सम्राज्ञी, पटरानी, राजरानी
मांसगोश्त, आमिष, आमि, मीट
मातामाँ, जननी, जन्मदात्री, मातु, मैया, महतारी, धात्री, प्रसू
मातहतअधीन, अवर, निम्नपदस्थ, अधीनस्थ
मुख्यप्रमुख, प्रवर, प्रधान,खास
मोरमयूर , सारंग, केकी, शिखी
मेढकमण्डूक,दर्दुर, वर्षाप्रिय
मोक्षमुक्ति, कैवल्य, निर्वाण, परमपद
यमराजयम, धर्मराज,मृत्युपति, अंतक, श्रद्धदेव , काल
युवतीतरूणी , किशोरी, नवोढ़ा , रमणी
युद्धरण, जंग, लड़ाई, संग्राम
यमुनाकृष्णा, कालिंदी, जमुना, सूर्यतनया, अर्कजा
रंकगरीब,कंगाल, दरिद्र,निर्धन, अंकिचन
रात्रिरात , निशा, रजनी, राका, विभावरी, रैन
रंडीवेश्या, गणिका, पतुरिया, मंगलमुखी
रावणदशानन, लंकाधिपति, लंकेश, दशकंधर, राक्षसराज
राजानृप, भूप, नरेश, सम्राट, भूस्वामी, महीप, नरेश
रोषगुस्सा, अमर्ष ,क्रोध ,कोप
लक्ष्मणशेषावतार, लखन, रामानुज, सौमित्र
लक्ष्मीकमला, सिंधुसुता , श्री , रमा, पद्मा, हरिप्रिया
लज्जाशर्म,हया,लाज,संकोच, व्रीडा
लोहालौह, अयस, सार
वंदनाअर्चना, स्तुति, आराधना
विषजहर, गरल, माहुर, हलाहल
वक्षउर, वक्षस्थल, उदरस्थल, सीना, छाती
विधवाराँड , पतिहीना, अनाथा
विलासीभोगी, विषयी, कामी, कामुक, लंपट
विषमबेमेल, अनमेल, असंगत, असमान
वीर्यधातु, शुक्र, रेता
व्यभिचारिणीस्वैरिणी, कुलटा, छिनाल, पुंश्चली
व्याधबहेलिया , आखेटक, शिकारी, लुब्धक, अहेरी
विष्ठामल, गुह, पुरीष
शत्रुबैरी, रिपु, अमित्र, अरि
शीघ्रतुरंत, तत्क्षण ,जल्दी, आशु, सत्वर
शेरवनराज, मृगराज, सिंह, केशरी, पंचानन, नाहर,केहरि, मृगेंद्र
श्मशानदाहस्थल, मरघट, मसान
शिक्षातालीम, सीख, ज्ञान
षड़यंत्रसाजिस, कुचक्र, दुरभिसंधि
संध्यागोधूलि, दिनांत, प्रदोषकाल
संस्थापकमूलकर्त्ता , प्रवर्तक
समीक्षाआलोचना, मीमांसा, समालोचना, विवेचना
समुद्रउदधि , जलधि, रत्नाकर, सिंधु, सागर
सूर्यदिन, दिवाकर, रवि, भानु, भास्कर, आदित्य, सविता
स्तनकुच, उरोज, छाती, पयोधर
स्याहीमसि, काली, रौशनाई
स्वर्णसोना , कनक, कंचन, हेम, हिरण्य
स्वर्गगोलोक, बैकुंठ, परमधाम, जन्नत, सुरलोक, द्यो
सुगंधमहक, सुवास, परिमल, खुशबू, वास
हंससरस्वतीवाहन. मराल, मुक्तभुक्
हनुमानबजरंगबली, मारूतिनंदन, रामदूत्, पवनसुत, आंजनेय , कपिश
हाथीगज, कुंजर, कुम्भी, हस्ती, नाग, करी
हिरणमृग, हरिण , कुरंग , सारंग
हिमालयगिरिराज , हिमगिरि, हिमाचल
क्षतआहत, जख्मी, अभ्याहत, उपहत
त्रुटिभूल, गलती, चूक
ज्ञानीविद्वान, जानकार, पंडित, सुधी
समान बोले जाने वाले शब्द

आजके इस लेख में आपने समानार्थी शब्द और पर्यायवाची शब्द के क्या है ये जाना उम्मीद है ये जानकारी आपके लिए उपयोगी रही होगी।

अगर आपका सवाल है की किसी शब्द इसका पर्यायवाची क्या है तोह नीचे वह शब्द लिखकर कमेंट करें हम तुरंत वह शब्द इस सूची में जोड़ देंगे साथ ही आपको अलग से कमेंट का रिप्लाई दिया जायेगा।

हमारे ब्लॉग के सभी नयी पोस्ट की जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे ब्लॉग हिंदी में ज्ञान को सब्सक्राइब जरूर करें

hindimegyaan

Leave a Comment

0 Shares
Copy link
Powered by Social Snap